कौन हैं निखिल कामत? जिसे मिलती हैं मुकेश अंबानी से 6 गुना अधिक सैलरी

भारत की सबसे बड़े ट्रेडिंग ब्रोकरेज फर्म में एक जेरोधा के को-फाउंडर और देश के सबसे युवा अरबपतियों में शामिल होने वाले निखिल कामत एक बार फिर सुर्खियों में हैं. दरअसल निखिल ने पांच बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद को एक ऑनलाइन शतरंज चैरिटी मैच में हराकर सबको हैरत में डाल दिया. हालाँकि कामत को खेल के नियमों उल्लंघन करने का दोषी पाया गया. जिसके बाद उन्होंने सार्वजिक रूप से माफी मांग ली हैं. आज इस लेख में स्कूल निखिल के अरबपति बनने की कहानी जानेगे.

निखिल ने सिर्फ 17 वर्ष की उम्र में 8000 रुपये महिना सैलरी में कॉल सेंटर में जॉब की. हालाँकि 18 वर्ष की उम्र में उन्होंने ट्रेडिंग को गंभीरता से लेना शुरू किया. जल्दी ही उन्हें सफलता मिलने लगी और वह कॉल सेंटर के अपने बॉस और साथियों के पैसों को मैनेज करने लगे. फिर उन्होंने कॉल सेंटर की जॉब छोड़ने का फैसला किया. नौकरी छोड़ने के बाद निखिल ने अपने बड़े भाई नितिन कामत के साथ कामत एसोसिएट्स शुरुआत की. 2010 में उन्होंने अपनी बचत से जेरोधा की नींव रखी. निखिल कामत वर्तमान में सिर्फ 34 वर्ष के हैं और भारत के सबसे कम उम्र के अरबपति बन गए हैं.

लेते हैं मुकेश अंबानी से अधिक सैलरी

जेरोधा ने रेग्युलेटरी फाइलिंग के अनुसार कंपनी के फाउंडर नितिन कामत और निखिल कामत की 100 करोड़ रुपये की वार्षिक सैलरी लेते हैं. हाल ही में कंपनी के बोर्ड ने कामत बंधुओं को 100 करोड़ रुपए तक की सालाना सैलरी को मंजूरी देते हुए एक स्पेशल प्रस्ताव पारित किया है. कामत की बेसिक सैलरी 4.17 करोड़ रुपये प्रति महिना होगी इसके आलावा 4.17 करोड़ रुपये के इंसेंटिव और भत्ते होंगे. फाइनेंसियल वर्ष 2019-20 में देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी का सालाना पैकेज 15 करोड़ रुपये था.

जेरोधा डिस्काउंट ब्रोकरेज एक फर्म है. यह रीटेल और इंस्टीट्यूशनल दोनों ही तरह की ब्रोकिंग देती है. इसके अलावा फर्म म्युचुअल फंड, कमोडिटी और बॉन्ड में निवेश की भी सुविधा देती हैं. क्लाइंट्स की संख्या के अनुसार यह वर्तमान में भारत की सबसे बड़ी ब्रोकरेज फर्म है. जिसका हेड ऑफिस बेंगलुरु में है.

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *