चंबा के लिग्गा पंचायत को नहीं छू पाया कोरोना वायरस, जानें क्या हैं कारण 

कोरोना की दूसरी लहर ने एक तरह भारत सहित दुनियाभर में तबाही मचाई हुई हैं. वही दूसरी ओर चंबा के उपमंडल सलूणी की ग्राम पंचायत में कोरोना की दूसरी लहर में अभी तक एक भी मामला नहीं आया हैं. इस महामारी से बचने के लिए पंचायत प्रशासन ने जिस तरह से काम किया हैं उसकी अब सभी तारीफ कर रहे हैं. कोरोना से पंचायत को बचाने के लिए वहां के वालंटियरों की भूमिका भी बेहद खास रही हैं.

इस पंचायत की आबादी करीब 1350 हैं. देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलें के मद्देनजर पंचायत प्रतिनिधियों ने गाँव के लोगों के साथ मिलकर किसी भी बाहरी को पंचायत में घूसने नहीं दिया हैं. इसके आलावा गाँव के युवकों ने इस महामारी के बारे में लोगों को भी काफी जागरूक किया हैं. इसके आलावा समय-समय पर जरुरतमंदों को मास्क और सैनिटाइजर भी बांटे गए हैं.

ये चंबा जिले की ये एक अकेली पंचायत हैं जहाँ दूसरी लहर में अभी तक एक भी कोरोना पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया हैं. उपमंडलीय प्रशासन सलूणी द्वारा भी पंचायत प्रतिनिधियों के साथ-साथ ग्रामीणों की सतर्कता इर सजकता की जमाजर प्रशंसा की है.

दरअसल पिछले वर्ष कोरोना की पहली लहर के दौरान पंचायत में एक मामला सामने आया था. जिसके बाद जिला मुख्यालय के आये इस कोरोना संक्रमित व्यक्ति को क्वारंटीन किया गया था. इसके बाद से ये कोरोना इस पंचायत को छू तक नहीं पाया हैं. पंचायत के प्रधान मनोज कुमार ने जानकारी देते हुए बताया हैं कि जहाँ देश में लगभग प्रतिदिन 3 लाख के करीब केस सामने आ रहे हैं दूसरी तरफ इस पंचायत में अभी तक एक भी मामला सामने नहीं आ पाया हैं.

प्रधान के आलावा एसडीएम सलूणी किरण भड़ाना ने जानकारी दी कि पंचायत को कोरोना से बचाए रखने में गाँव के पंचायत प्रधान, वालंटियरों और सभी ग्रामीण वासियों की भूमिका अहम रही हैं. उन्होंने भी जानकारी दी हैं कि दूसरी लहर में अभी तक इस पंचायत में एक भी मामला सामने नहीं आया हैं.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *